14 January 2019

मकर संक्रांति 2019 | शुभ मुहूर्त | 2019 ka Makar Sankranti Kab Hai | 2019 Makar Sankranti rashifal

मकर संक्रांति 2019 | शुभ मुहूर्त | 2019 ka Makar Sankranti Kab Hai | 2019 Makar Sankranti rashifal


 Makar Sankranti kab hain
 Makar Sankranti
सामान्यत: प्रति वर्ष मकर संक्रांति का पर्व 14 जनवरी को मनाया जाता हैं किन्तु इस वर्ष 2019  में यह पर्व 15 जनवरी को मनाया जायेगा। सूर्य के राशि परिवर्तन को संक्रांति कहते हैं। ज्योतिष मान्यताओं के अनुसार जब सूर्यदेव गोचरवश भ्रमण करते हुए जिस दिन मकर राशि में प्रवेश करते हैं, इस पावन दिन को "मकर-संक्रांति" कहा जाता हैं। इस दिन सूर्यदेव का उत्तरायण होता हैं, तथा पृथ्वी का उत्तरी गोलार्ध, सूर्य की ओर मुड़ जाता हैं। अतः इस पर्व को उत्तरायण भी कहा जाता हैं। इस वर्ष 2019 में सूर्यदेव दिनांक 14 जनवरी के सायं 7 बजकर 51 मिनट पर मकर राशि में प्रवेश करेंगे। इस प्रकार उदयकालीन तिथि की मान्यतानुसार सूर्य 15 जनवरी को प्रात: मकर राशि में होंगे, अत: इसी दिन अर्थात 15 जनवरी के दिन "मकर-संक्रांति" का पर्व मनाया जाएगा।
        मकर संक्रांति से ही ऋतु परिवर्तित होने लगती हैं। शरद ऋतु क्षीण होने लगती हैं तथा बसंत ऋतु का आगमन प्रारम्भ हो जाता हैं। इसके फलस्वरूप दिन लंबे होने लगते हैं तथा रात्रि छोटी हो जाती हैं।
        इस दिन घर में सूर्य यंत्र स्थापित करने से साक्षात भगवान सूर्य का आशीर्वाद प्राप्त होता हैं। सूर्य देव की कृपा से सफलता के मार्ग प्रशस्‍त होते हैं। इस यंत्र को पूजन स्थल पर स्थापित करने से सूर्य ग्रह से संबंधित प्रत्येक प्राकार के दोष नष्ट होते हैं।
        इस बार संक्रांति का वाहन सिंह एवं उपवाहन गज अर्थात हाथी होगा। इस वर्ष 2019 में संक्रांति श्वेत वस्त्र धारण किए स्वर्ण-पात्र में अन्न ग्रहण करते हुए कुंकुम का लेप किए हुए उत्तर दिशा की ओर जाती हुई आ रही हैं।

मकर संक्रांति 2019 शुभ मुहूर्त

संक्रांति का पुण्य काल
        "मकर संक्रांति" के दिन पवित्र नदियों में तिल का उबटन लगा कर स्नान करना विशेष लाभप्रद माना गया हैं। "मकर संक्रांति" स्नान का पुण्य काल दिनांक 14 जनवरी 2019 की अर्द्धरात्रि 2 बजकर 20 मिनट से दिनांक 15 जनवरी 2019 को प्रात:काल से लेकर सायंकाल 6 बजकर 20 मिनट तक रहेगा।

दान-पुण्य काल मुहूर्त :
प्रातः 07:14 से दोपहर 12:26 तक
महा पुण्य काल मुहूर्त :
प्रातः 07:14 से 09:11 तक

12 राशियों पर "मकर संक्रांति" का राशिफ़ल इस प्रकार हैं-

1- मेष- धन लाभ
2- वृष- हानि व्याधि
3- मिथुन- लाभ सम्मान
4- कर्क- कार्य सिद्धि
5- सिंह- पुण्य लाभ
6- कन्या- कष्ट पीड़ा
7- तुला- प्रतिष्ठा की प्राप्ति
8- वृश्चिक- भय व व्याधि
9- धनु- सफ़लता
10- मकर- विवाद
11- कुंभ- धन लाभ
12- मीन- कार्य सिद्धि

        मकर संक्रांति के दिन दान-पुण्य का विशेष महत्व हैं, इस दिन गुड़, चावल तथा तिल का दान करना सर्वश्रेष्ठ माना जाता हैं। मकर-संक्रांति के दिन तिल से बनी हुई वस्तुओं एवं ताम्र पात्रों का दान देना सर्वश्रेष्ठ होता हैं।

मकर संक्रांति पर राशि के अनुसार यह दान करें-

१.         मेष राशि के जातकों को गुड़, तिल तथा मूंगफली का दान करना चाहिये।
२.         वृषभ राशि के जातकों को श्वेत वस्त्र तथा तिल का दान करना चाहिये।
३.         मिथुन राशि के जातकों को कंबल, चावल की खिचडी या मूंगदाल तथा चावल दान करना चाहिये।  
४.         कर्क राशि के जातकों को लिए श्वेत वस्त्र, चांदी तथा चावल का दान करना चाहिये।
५.         सिंह- राशि के जातकों को तांबा तथा सोना दान करना चाहिये।
६.         कन्या- राशि के जातकों को चावल, हरे मूंग या हरे कपड़े का दान करना चाहिये।
७.         तुला- राशि के जातकों को हीरे, चीनी या कंबल का दान करना चाहिये।
८.         वृश्चिक -राशि के जातकों को मूंगा, लाल कपड़ा तथा तिल दान करना चाहिये।
९.         धनु- राशि के जातकों को पीतल, पंचधातु व तिल का दान करना चाहिये।
१०.   मकर- राशि के जातकों को खिचड़ी, बेसन के लड्डू या अष्टधातु से बनी वस्तुओं का दान करना चाहिये।
११.   कुंभ राशि के जातकों को काला कपड़ा, काली उड़द, खिचड़ी तथा तिल का दान करना चाहिये।
१२.   मीन राशि के जातकों को रेशमी कपड़ा, चने की दाल, चावल तथा तिल दान करना चाहिये।  



No comments:

Post a Comment

Enter you Email