09 January 2019

Vinayak Chaturthi Dates 2019 | विनायक चतुर्थी व्रत 2019 पूजा समय | विनायक चतुर्थी शुभ मुहूर्त 2019

Vinayak Chaturthi Dates 2019 | विनायक चतुर्थी व्रत 2019 पूजा समय | विनायक चतुर्थी शुभ मुहूर्त 2019

Vinayak Chaturthi muhurat 2019
Vinayak Chaturthi Dates muhurat 2019
भारतीय संस्कृति में गणेश जी को विद्या-बुद्धि का प्रदाता, विघ्न-विनाशक, मंगलकारी, रक्षाकारक, सिद्धिदायक, समृद्धि, शक्ति और सम्मान प्रदायक माना गया हैं।

हिन्दु मान्यताओ के अनुसार प्रत्येक चंद्र मास में दो चतुर्थी होती हैं। सनातन हिन्दू ग्रन्थों के अनुसार चतुर्थी तिथि भगवान गणेश की तिथि हैं। अमावस के पश्चात आने वाली शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को विनायक चतुर्थी कहते हैं तथा पूर्णिमा के पश्चात आने वाली कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को संकष्टी चतुर्थी कहते हैं।
 

विनायक चतुर्थी व्रत पूजा विधि

  • भद्रपद की गणेश चतुर्थी में सर्वप्रथम पचांग में मुहूर्त देख कर गणेश जी की स्थापना की जाती हैं।
  • सबसे पहले एक ईशान कोण में स्वच्छ जगह पर रंगोली डाली जाती हैं, जिसे चौक पुरना कहते हैं।
  • उसके उपर पाटा अथवा चौकी रख कर उस पर लाल अथवा पीला कपड़ा बिछाते हैं।
  • उस कपड़े पर केले के पत्ते को रख कर उस पर मूर्ति की स्थापना की जाती हैं।
  • इसके साथ एक पान पर सवा रूपये रख पूजा की सुपारी रखी जाती हैं।
  • कलश भी रखा जाता हैं एक लोटे पर नारियल को रख कर उस लौटे के मुख कर लाल धागा बांधा जाता हैं। यह कलश पुरे दस दिन तक ऐसे ही रखा जाता हैं। दसवे दिन इस पर रखे नारियल को फोड़ कर प्रशाद खाया जाता हैं।
  • सबसे पहले कलश की पूजा की जाती हैं जिसमे जल, कुमकुम, चावल चढ़ा कर पुष्प अर्पित किये जाते हैं।
  • कलश के बाद गणेश देवता की पूजा की जाती हैं। उन्हें भी जल चढ़ाकर वस्त्र पहनाए जाते हैं फिर कुमकुम एवम चावल चढ़ाकर पुष्प समर्पित किये जाते हैं।
  • गणेश जी को मुख्य रूप से दूबा चढ़ायी जाती हैं।
  • इसके बाद भोग लगाया जाता हैं। गणेश जी को मोदक प्रिय होते हैं।
  • फिर सभी परिवार जनो के साथ आरती की जाती हैं। इसके बाद प्रशाद वितरित किया जाता हैं।

        वर्ष 2019 की सम्पूर्ण विनायक चतुर्थी व्रत गणेश पूजा का शुभ मुहूर्त


10    जनवरी       {गुरुवार}    विनायक चतुर्थी     11:28 से 13:28

08    फरवरी        {शुक्रवार}   विनायक चतुर्थी     11:32 से 13:41

10    मार्च           {रविवार}    विनायक चतुर्थी     11:19 से 13:44

09    अप्रैल         {मंगलवार} विनायक चतुर्थी     11:08 से 13:40

08    मई            {बुधवार}    विनायक चतुर्थी     10:57 से 13:34

06    जून            {गुरुवार}    विनायक चतुर्थी     10:58 से 13:41

06    जुलाई        {शनिवार}   विनायक चतुर्थी     11:04 से 13:10

04    अगस्त        {रविवार}    विनायक चतुर्थी     11:09 से 13:42

02    सितम्बर      {सोमवार}   गणेश चतुर्थी         11:04 से 13:38

02    अक्टूबर      {बुधवार}    विनायक चतुर्थी     10:57 से 11:36

31    अक्टूबर      {गुरुवार}    विनायक चतुर्थी     10:55 से 13:12

30    नवम्बर       {शनिवार}   विनायक चतुर्थी     11:07 से 13:12

30    दिसम्बर      {सोमवार}   विनायक चतुर्थी     11:26 से 13:28

No comments:

Post a Comment

Enter you Email