09 March 2020

होली 2020 | ज्योतिष शास्त्र | Holi Ke Upay In Hindi | धन प्राप्ति के उपाय | Holi 2020 by Vinod Pandey

 होली 2020 | ज्योतिष शास्त्र | Holi Ke Upay In Hindi | धन प्राप्ति के उपाय | Holi 2020 by Vinod Pandey

holi upay hindi
holi upay hindi
फाल्गुन मास में आने वाली पूर्णिमा तिथि को फाल्गुन पूर्णिमा कहते हैं। इस शुभ दिवस होलिका दहन किया जाता हैं। हिन्दु धार्मिक ग्रन्थों के अनुसार, होलिका दहन को होलिका दीपक तथा छोटी होली के नाम से भी जाना जाता हैं। होली हिन्दुओं के प्रमुख एवं महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक हैं, जिसे सम्पूर्ण भारतवर्ष में अत्यंत उत्साह तथा धूम-धाम के साथ मनाया जाता हैं। हिन्दू धर्म में फाल्गुन पूर्णिमा का धार्मिक, सामाजिक तथा सांस्कृतिक महत्व अत्यंत अधिक हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, इस दिवस किए गए उपाय अत्यंत ही शीघ्र शुभ फल प्रदान करते हैं। इस दिवस सूर्योदय से प्रारम्भ कर चंद्रोदय तक व्रत-उपवास भी किया जाता हैं। धार्मिक मान्यता के अनुसार फाल्गुन पूर्णिमा का उपवास रखने से प्रत्येक मनुष्य के समस्त दुखों का नाश होता हैं तथा उस भक्त को भगवान श्री हरी विष्णुजी की विशेष कृपादृष्टि प्राप्त होती हैं।

आज हम आपको होली पर किए जाने वाले ऐसे ही सरल किन्तु अचूक उपायों के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें होली के पर्व पर कर के आप सभी परेशानियों से मुक्त हो जायेंगे।


उपाय इस प्रकार हैं-
                               १:-   यदि आपके जीवन में राहु के कारण कोई परेशानी हैं, तो एक नारियल का गोला लेकर उसमें अलसी का तेल भरें। उसी में थोड़ा सा गुड़ डालें तथा इस गोले को जलती हुई होलिका में अर्पित कर दें। इस प्रयोग से राहु का बुरा प्रभाव स्वयं ही समाप्त हो जाएगा।
                               २:-   यदि आपको कोई अज्ञात भय रहता हैं, तो होली पर एक सूखा जटा वाला नारियल, काले तिल तथा पीली सरसों एक साथ लेकर उसे सात बार अपने सिर के ऊपर उतार कर जलती होलिका में अर्पित कर देने से अज्ञात भय समाप्त हो जाएगा।
                               ३:-   यदि व्यापार या नौकरी में उन्नति न हो रही हो, तो 21 गोमती चक्र लेकर होलिका दहन की रात्रि में शिवलिंग पर चढ़ा दें। इससे व्यापार तथा नौकरी में लाभ तथा प्रगति प्राप्त होगी।
                               ४:-   होलिका दहन के दूसरे दिवस होलिका की राख को घर लाकर उसमें थोड़ी सी राई तथा नमक मिलाकर रख लें। इस प्रयोग से भूत-प्रेत या नजर दोष से मुक्ति मिलती हैं।
                               ५:-   घर की सुख-समृद्धि हेतु परिवार के प्रत्येक सदस्य को होलिका दहन में घी में भिगोई हुई दो लौंग, एक बताशा तथा एक पान का पत्ता अवश्य चढ़ाना चाहिए। साथ ही होली की 11 परिक्रमा करते हुए होली में सूखे नारियल की आहुति देनी चाहिए।
                               ६:-   होली की रात्रि सरसों के तेल का चौमुखी दीपक घर के मुख्य द्वार पर लगाएं तथा उसकी पूजा करें। इसके पश्चात भगवान से सुख-समृद्धि की प्रार्थना करें। इस प्रयोग से प्रत्येक प्रकार की बाधा का निवारण होता हैं।
                               ७:-   धन हानि से बचने हेतु होली के दिवस घर के मुख्य द्वार पर गुलाल छिड़कें तथा उस पर दोमुखी दीपक जलाएं। दीपक जलाते समय धन हानि से बचाव की प्रार्थना करें। जब दीपक बुझ जाए तो उसे होली की अग्नि में अर्पित कर दें। यह क्रिया श्रद्धापूर्वक करें, आपको कभी भी धन की हानि नहीं होगी।
                               ८:-   जिसके पास कोई नौकरी या व्यापार नहीं हैं, तो ऐसे जातकों को होली की रात्रि 12 बजे से पूर्व एक नींबू लेकर किसी चौराहे पर जाना चाहिए तथा उसके चार टुकड़े कर चारों दिशाओं में फेंक देना चाहिए एवं तुरंत वापस घर आ जाना चाहिए, किन्तु ध्यान रहे की, वापसी के समय पीछे मुड़कर नहीं देखना चाहिए।
                               ९:-   होली पर किसी योग्य निर्धन को यथासंभव भोजन अवश्य कराएं। इससे आपकी समस्त मनोकामना अत्यंत शीघ्र पूर्ण होगी।
                         १०:-   शीघ्र विवाह हेतु होली के दिवस किसी शिव मंदिर जाएं तथा अपने साथ 1 साबुत  पान, 1 साबुत  सुपारी एवं हल्दी की गांठ रख लें। पान के पत्ते पर सुपारी तथा हल्दी की गांठ रखकर शिवलिंग पर अर्पित करें। इसके पश्चात पीछे देखे बिना अपने घर लौट आएं। यही प्रयोग अगले दिवस भी करें। इसके साथ ही समय-समय पर शुभ मुहूर्त में यह उपाय करते रहें । जल्दी ही विवाह के योग बन जाएंगे।
                         ११:-   यदि किसी ने आप पर कोई टोटका या काला जादू किया हैं तो होली की रात्रि जहां होलिका दहन हो, उस जगह एक गड्ढा खोदकर उसमें 11 अभिमंत्रित कौड़ियों को दबा दें। अगले दिवस कौड़ियों को निकालकर अपने घर की मिट्टी के साथ नीले कपड़े में बांधकर बहते जल में प्रवाहित कर दें। जो भी तंत्र क्रिया आप पर किसी ने की होगी वह नष्ट हो जाएगी।
                         १२:-   यदि आपके घर में किसी भूत-प्रेत का साया हैं तो जब होली जल जाए, तब आप होलिका की थोड़ी सी अग्नि अपने घर ले आएं तथा अपने घर के आग्नेय कोण अर्थात दक्षिण-पूर्व के मध्य के कोण में उस अग्नि को तांबे या मिट्टी के पात्र में रखें। सरसों के तेल का दीपक जलाएं। इस उपाय से आपकी समस्त परेशानियाँ नष्ट हो जाएगी।
                         १३:-   यदि आपका पैसा कहीं फंसा हैं तो, होली के दिवस 11 गोमती चक्र हाथ में लेकर जलती हुई होलिका की 11 बार परिक्रमा करते हुए धन प्राप्ति की प्रार्थना करें। उसके पश्चात एक सफेद कागज पर उस व्यक्ति का नाम लाल चन्दन से लिखें जिससे पैसा लेना हैं तथा उस सफेद कागज को 11 गोमती चक्र के साथ में कहीं गड्ढा खोदकर दबा दें। इस प्रयोग से धन प्राप्ति की संभावना अत्यंत बढ़ जाएगी।
                         १४:-   शत्रुओं से छुटकारा पाने हेतु होलिका दहन के समय 7 गोमती चक्र लेकर भगवान से प्रार्थना करें कि, आपके जीवन में कोई शत्रु बाधा न डालें। प्रार्थना के पश्चात पूर्ण श्रद्धा तथा विश्वास के साथ गोमती चक्र जलती हुई होलिका में अर्पित कर दें।
                         १५:-   होली से प्रारम्भ कर के बजरंग बाण का 40 दिवस तक नियमित पाठ करने से प्रत्येक प्रकार की मनोकामना पूर्ण हो सकती हैं।

आप सभी दर्शक-मित्र को हमारी ओर से होली की हार्दिक शुभकामनाएँ।

No comments:

Post a Comment

Enter you Email