24 January 2020

अमावस्या कब है 2020 में | Amavasya kab hai 2020 Dates List | New Moon Amas Amavas Amawas Amavasya

अमावस्या कब है 2020 में | Amavasya kab hai 2020 Dates List | New Moon Amas Amavas Amawas Amavasya

amawas 2020 dates list
amavasya dates list
हिन्दू शास्त्रो मैं तंत्र मंत्र सिद्ध करने के लिए अमावस्या को विशेष तिथि माना गया है।
हिन्दु पंचांग में नये चन्द्रमा के दिन को अमावस्या कहते हैं। यह एक महत्वपूर्ण दिन होता है क्योंकि कई धार्मिक कृत्य केवल अमावस्या तिथि के दिन ही किये जाते हैं।
अमावस्या जब सोमवार के दिन पड़ती है तो उसे सोमवती अमावस्या कहते हैं और अमावस्या जब शनिवार के दिन पड़ती है तो उसे शनि अमावस्या कहते हैं।
पूर्वजों की आत्मा की तृप्ति के लिए अमावस्या के सभी दिन श्राद्ध की रस्मों को करने के लिए उपयुक्त हैं। कालसर्प दोष निवारण की पूजा करने के लिए भी अमावस्या का दिन उपयुक्त होता है।

धन-धान्य व सुख-संम्पदा के लिए 🌷


🔥 हर अमावस्या को घर में एक छोटा सा आहुति प्रयोग करें।
🍛 सामग्री : १. काले तिल, २. जौं, ३. चावल, ४. गाय का घी, ५. चंदन पाउडर, ६. गूगल, ७. गुड़, ८. देशी कर्पूर, गौ चंदन या कण्डा।
🔥 विधि: गौ चंदन या कण्डे को किसी बर्तन में डालकर हवनकुंड बना लें, फिर उपरोक्त ८ वस्तुओं के मिश्रण से तैयार सामग्री से, घर के सभी सदस्य एकत्रित होकर नीचे दिये गये देवताओं की १-१ आहुति दें।
🔥 आहुति मंत्र 🔥
🌷 १. ॐ कुल देवताभ्यो नमः
🌷 २. ॐ ग्राम देवताभ्यो नमः
🌷 ३. ॐ ग्रह देवताभ्यो नमः
🌷 ४. ॐ लक्ष्मीपति देवताभ्यो नमः
🌷 ५. ॐ विघ्नविनाशक देवताभ्यो नमः

🌷 अमावस्या का मंत्र 🌷

🙏🏻 भविष्योत्तर पुराण में बताया कि अमावश्या के दिन अगर भगवान ब्रम्हाजी का कोई पूजन करे, श्लोक और गायत्री मंत्र बोलकर जो ब्रम्हाजी को नमन करते हैं और थोड़ी देर शांत बैठे और फिर गुरुमंत्र का जप करें तो उनको विशेष लाभ होता है | जो भाई-बहन जो सत्संग में आते हैं वो दैवी सम्पदा पायें और लौकिक सम्पदा भी पायें | किसी के सिर पे भार न रहें | दैवी सम्पदा से खूब धनवान हों और लौकिक धन की भी कमी न रहें |
🌷 मंत्र इस प्रकार है
स्थानं स्वर्गेथ पाताले यन्मर्ते किंचिदत्तंम | तद्व्पोंत्य संधिग्धम पद्मयोंने प्रसादत: ||
🌷 गायत्री मंत्र
ॐ भू भुर्व: स्व: तत सवितुर्वरेण्यं | भर्गो देवस्य धीमहि | धियो यो न: प्रचोदयात् ||

🌷 नकारात्मक ऊर्जा मिटाने के लिए 🌷

🏡 घर में हर अमावस अथवा हर १५ दिन में पानी में खड़ा नमक (१ लीटर पानी में ५० ग्राम खड़ा नमक) डालकर पोछा लगायें । इससे नेगेटिव एनेर्जी चली जाएगी । अथवा खड़ा नमक के स्थान पर गौझरण अर्क भी डाल सकते हैं ।

2020 में अमावस्या के दिन -

24 जनवरी
शुक्रवार
माघ अमावस्या

23 फरवरी
रविवार
फाल्गुन अमावस्या

24 मार्च
मंगलवार
चैत्र अमावस्या

22 अप्रैल
बुधवार
वैशाख अमावस्या

22 मई
शुक्रवार
ज्येष्ठ अमावस्या

21 जून
रविवार
आषाढ़ अमावस्या

20 जुलाई
सोमवार
श्रावण अमावस्या

19 अगस्त
बुधवार
भाद्रपद अमावस्या

17 सितम्बर
गुरुवार
अश्विन अमावस्या

16 अक्तूबर
शुक्रवार
अश्विन अमावस्या

15 नवम्बर
रविवार
कार्तिक अमावस्या

14 दिसम्बर
सोमवार
मार्गशीर्ष अमावस्या

No comments:

Post a Comment

Enter you Email