29 December 2016

सज्जन अच्छे मित्रों के लक्षण || श्लोक

सज्जन अच्छे मित्रों के लक्षण

 श्लोक :-


पापान्निवारयति योजयते हिताय,

गुह्यं निगूहति गुणान् प्रकटीकरोति।

आपद्गतं च न जहाति ददाति काले,

सन्मित्रलक्षणमिदं प्रवदन्ति सन्तः।।






अर्थ :-

सज्जन अच्छे मित्रों का लक्षण यह बतलाते हैं कि अच्छा मित्र मनुष्य को पाप कर्म से रोकता है, हितकारी कार्यों में लगाता है, गुप्त बातों को छिपाता है, गुणों को प्रकट करता है, आपत्तिग्रस्त होने के समय साथ नहीं छोड़ता है और समय पड़ने पर सहायता प्रदान करता है।

 

 - धन्यवाद

 

 

 

 

No comments:

Post a Comment

Enter you Email